Homeधर्म-अध्यात्मNirjala Ekadashi: निर्जला एकादशी पर शुभ कार्यों की सिद्धि के लिए रखें...

Nirjala Ekadashi: निर्जला एकादशी पर शुभ कार्यों की सिद्धि के लिए रखें इस तरह से व्रत

India News MP (इंडिया न्यूज़), Nirjala Ekadashi: इस निर्जला एकादशी पर भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए लिस्ट में दी गई विशेष सामग्रियों का करें प्रयोग। ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की यह एकादशी सभी एकादशियों में सबसे महत्वपूर्ण मानी जाती है। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन व्रत रखकर पूजा करने से सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है।

कब है निर्जला एकादशी

इस साल 18 जून को निर्जला एकादशी व्रत रखा जाएगा। इस दिन विष्णु भगवान को चढ़ाने के लिए आवश्यक सामग्रियां हैं – विष्णु और लक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर, एक चौकी, पीला या लाल कपड़ा, फल, फूल, लौंग, आम के पत्ते, नारियल, सुपारी, धूप, दीप, दीया, घी, पीला चंदन, अक्षत, कुमकुम, मिठाई, तुलसी दल, पंचमेवा और माता लक्ष्मी के लिए श्रृंगार सामग्री।

कब शुरू होगा व्रत

व्रत शुरू होने की तिथि 17 जून को शाम 4:43 बजे है और इसका समापन 18 जून को सुबह 7:28 बजे होगा। मान्यता है कि सच्चे मन से निर्जला एकादशी का व्रत रखने और पूजा करने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं और शुभ कार्यों में सिद्धि मिलती है।

क्या है महत्त्व

धर्मग्रंथों के अनुसार, यदि आप साल भर की एकादशियां नहीं रख पाते तो कम से कम निर्जला एकादशी का व्रत जरूर रखें। इससे अन्य एकादशियों के समान फल प्राप्त होते हैं और सभी पापों से मुक्ति भी मिलती है।

डिसक्लेमरः यह लेख केवल सूचना प्रदान करने के उद्देश्य से लिखा गया है। इसमें दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है, इंडिया न्यूज एमपी का उद्देश्य केवल जानकारी प्रदान करना है। इस जानकारी के किसी भी तरह के उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं पाठक/उपयोगकर्ता की होगी, इंडिया न्यूज एमपी इसके लिए जिम्मेदार नहीं होगा।

Also read:

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

Most Popular